अंतरराष्ट्रीय अग्रवाल सम्मेलन ने अग्रसेन जयंती को राष्ट्रीय पर्व घोषित करने भारत के प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

सम्मेलन के अध्यक्ष राजकुमार मित्तल कोलकाता ने 21 सितंबर को पत्र लिखकर रखे अग्रवाल समाज की ओर से सुझाव

पूर्व में भी सम्मेलन द्वारा अग्रसेन जयंती पर्व पर अवकाश घोषित करने की करी जा चुकी है मांग

पूरे विश्व में करोड़ो अग्रवाल बंधुओं द्वारा धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ आयोजित किया जाता है अग्रसेन जयंती का पर्व

सक्ती-प्रतिवर्ष नवरात्रि पर्व दिवस आने वाले अग्रवाल समाज के कुल प्रवर्तक श्री श्री 1008 श्री अग्रोहा नरेश महाराजाधिराज अग्रसेन जयंती जी महाराज की जयंती पर्व दिवस इसे राष्ट्रीय पर्व घोषित करने की मांग अंतरराष्ट्रीय अग्रवाल सम्मेलन के अध्यक्ष राजकुमार मित्तल ने 21 सितंबर को संगठन की ओर से भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर की है,तथा सम्मेलन के अध्यक्ष राजकुमार मित्तल ने बताया है कि पूरे देश-दुनिया में अग्रसेन जयंती का पर्व एक छोटे से छोटे गांव, कस्बे एवं शहरों में धूमधाम के साथ मनाया जाता है, तथा इसी दिन आदि शक्ति मां जगदंबे की आराधना का पर्व नवरात्रि का भी शुभारंभ होता है,एवं सम्मेलन द्वारा आप से पूर्व में भी अग्रसेन जयंती दिवस अवकाश घोषित करने की मांग की जा चुकी है

पत्र में अग्रसेन जयंती महोत्सव पर राष्ट्रीय पर्व घोषित करने हेतु समस्त अग्रवंशियो द्वारा अपील के रूप में आग्रह करते हुये मित्तल ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय अग्रवाल सम्मेलन परिवार के सदस्य की ओर से अग्रसेन जयंती महोत्सव को राष्ट्रीय पर्व घोषित करने की आपसे अपनी अपील रखता है, ताकि महाराजा अग्रसेन जी की जयंती को पुरे देश के लोग पर्व के रूप में मना सके,महाराजा अग्रसेन जी एक पौराणिक कर्मयोगी, लोकनायक, समाजवाद के प्रणेता, राम राज्य के समर्थक एवं महादानी थे, महाराजा अग्रसेन जी का जन्म अश्विन शुक्ल (एकम) प्रतिपदा हुआ, जिसे अग्रसेन जयंती महोत्सव के रूप में मनाया जाता है। महाराजा अग्रसेन जी पहले ऐसे महापुरुष हुए जिन्होंने एक रुपया एक ईट के सन्देश के साथ समाजवाद का पाठ पढ़ाया

अग्रसेन जयंती महोत्सव पर महाराजा अग्रसेन जी के वंशज द्वारा अग्रसेन महाराज की भव्य झांकी व शोभायात्रा निकाली जाती हैं ,और अग्रसेन जी महाराज का पूजन पाठ, आरती की जाती हैं। राष्ट्रीय स्तर पर सामाजिक कार्यक्रम जैसे भंडारा, गरीब लोगो को भोजन, कपड़ा दान एवं मेडिकल कैम्प लगाकर मरीजो का इलाज भी प्राथमकिता में रख कर किया जाता है। उनके योगदान और दी गयी शिक्षा के बारे में लोगो को बताया जाता है

अंतरराष्ट्रीय अग्रवाल सम्मेलन के अध्यक्ष राजकुमार मित्तल ने कहा है कि इस दिन सम्पूर्ण अग्रवाल समुदाय उनको याद करता है, और उनके पद चिन्हों पर चलने का प्रयास करता है एवं उनके द्वारा समाज को दिए गए संदेश को जन समुदाय में प्रेषित करता है, भारत सरकार ने महाराजा अग्रसेन जी के सम्मान में 24 सितम्बर 1976 को डाक टिकट जारी किया एवं 14 मार्च 1995 को महान आदर्शो के प्रतीक महाराजा अग्रसेन जलपोत का अनावरण भी हुआ था। अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि अग्रसेन जयंती महोत्सव को राष्ट्रीय पर्व घोषित करने की कृपा करे

उल्लेखित हो कि पूरे देश भर में अग्रसेन जयंती दिवस राष्ट्रीय पर्व घोषित करने की मांग अग्रवाल समाज के विभिन्न संगठनों द्वारा निरंतर की जा रही है,एवं समाज बंधुओं का कहना है कि आज अग्रसेन जी के कार्य पूरी दुनिया के सामने सेवा के रूप में दर्ज है, तथा इस दिन राष्ट्रीय पर्व घोषित होने से यह दिवस लोगों को एक प्रेरणा रूपी सेवा के कार्य के रूप में देखा जाएगा

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.