एक बैद्धिक खेल है चेस : सीएम भूपेश बघेल

रायपुर। शतरंज ओलम्पियाड टॉर्च रिले आज राजधानी रायपुर पहुंची। यहां चेस ओलम्पियाड टार्च रिले का एयरपोर्ट पर खेल मंत्री उमेश पटेल, छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ के पदाधिकरियों ने भव्य स्वागत किया। पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में मुख्य समारोह का आयोजन किया गया। जहां सीएम भूपेश बघेल ने समारोह को संबोधित भी किया। अपने संबोधन में कहा कि, शतरंज में हाथी, घोड़ा, ऊंट, मंत्री और राजा सब रहते हैं।

शह और मात के इस खेल की शुरुआत हमारे देश से हुई। शतरंज का जनक भारत को कहा जाता है। भारत को शतरंज ओलम्पियाड की पहली बार मेजबानी का अवसर मिला है। पहले ये मेजबानी रूस को मिली थी। लेकिन रुस और यूक्रेन के युद्ध की वजह से मेजबानी भारत को मिली। सीएम ने कहा, चेस एक बैद्धिक खेल है। देश के अनेक लोगों ने प्रतिनिधित्व किया और देश का मान और गौरव बढ़ाया है। छत्तीसगढ़ के लिए गर्व की बात है कि निर्णायक और अन्य डेलीगेशन में छत्तीसगढ़ के लोग भी शामिल हैं। इसके बाद यह रैली छत्तीसगढ़ से हैदराबाद जाएगी।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.