रेलवे स्टेशनों में आप भी 15 दिन के लिए लगा सकते हैं अपने स्थानीय उत्पाद के स्टॉल

क्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने एक स्टेशन एक उत्पाद वोकल फ़ॉर लोकल को बढ़ावा देने के तहत प्रारंभ की योजना

15 -15 दिनों के लिए स्थानीय एनजीओ या की उत्पादकों को दिए जाएगी रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म में जगह

शक्ति रेलवे स्टेशन में भी प्रारंभ हुई एक स्टेशन- एक उत्पाद की योजना

सक्ति- भारतीय रेलवे ने पूरे देश भर के रेलवे स्टेशनों में आजादी के अमृत महोत्सव 75 वीं वर्षगांठ पर स्थानीय उत्पादकों एवं एनजीओ को प्रोत्साहित करने की दिशा में महत्वपूर्ण पहल की है

इस श्रृंखला में स्थानीय रेलवे स्टेशनों में वहां के क्षेत्रीय उत्पादकों या एनजीओ के सामानों को प्रचारित करने की दिशा से एवं वोकल फ़ॉर लोकल को क्रियान्वित करने की दिशा में पहल करते हुए 15- 15 दिनों के लिए सिर्फ 1000/-रुपये का निबंध शुल्क लेकर स्टाल उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया है, तथा इस श्रृंखला में जहां दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर जोन के अंतर्गत विगत कई महीनों से योजना चल रही है, तो वहीं शक्ति रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर भी यह योजना प्रारंभ हो गई है

जिसके अंतर्गत पूर्व में 15 जून को इसका उद्घाटन किया गया था, जिसमें शक्ति विकासखंड के नंदौर खुर्द की महिला समूह जो कि कोसा से संबंधित कपड़ों का निर्माण करती है,उसने अपने स्टाल लगाए तथा उस स्टॉल को भी काफी प्रतिसाद मिला, अब आने वाले समय में भी 15 दिनों के लिए लोगों को यह स्टाल उपलब्ध करवाए होंगे

ज्ञात हो कि रेलवे स्टेशनों में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की एक स्टेशन- एक उत्पाद के तहत यह योजना है,भारत सरकार की वर्ष 2022-23 के बजट में एक स्टेशन एक उत्पाद योजना की घोषणा की गई थी। इस योजना में भारतीय रेलवे के सभी स्टेशनों पर वोकल फ़ॉर लोकल विजन के तहत स्थानीय उत्पाद को बाजार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से स्थानीय व्यक्तियों, स्वयंसेवी संस्था, स्वयंसेवी समूह,एनजीओ आदि को स्टेशन पर स्टॉल एवं शो-केस उपलब्ध करना है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे भी इस योजना के तहत अपने सभी स्टेशनों पर स्टॉल की सुविधा उपलब्ध करवायेगी। इस योजना की प्रमुख विशेषताएँ इस प्रकार हैं

01- इस योजना में रेलवे अपने खर्च पर स्टॉल बनवाकर देगी

02- निबन्ध शुल्क मात्र 1000 रू. 15 दिनों के लिए होगा।

03- स्टॉल की अवधि को 15-15 दिनों के लिए आगे बढ़ाया जा सकता है।

04- इलेक्ट्रिक शुल्क उपभोग के आधार पर लिया जायेगा

05- इन स्टॉल पर स्थानीय उत्पाद, हस्तशिल्प, हैंडलूम, सीनीय कृषि उत्पाद, सीनीय कारीगरी, संसाधित एवं अर्ध-संसाधित खादय पदार्थ, परम्परागत परिधान, लकड़ी या मिट्टी से बनी वस्तुएँ, खिलौने आदि को बेचा जा सकता है

दक्षिण पूर्वी मध्य रेलवे ने आग्रह किया है कि इच्छुक व्यक्ति, स्वयंसेवी संस्था, स्वयंसेवी समूह,एनजीओ आदि स्टॉल खोलने हेतु सम्बन्धित स्टेशन के स्टेशन प्रबंधक / स्टेशन मास्टर से संपर्क कर सकते हैं, अन्य किसी भी प्रकार की सहायता हेतु मो. नं. -9752475954 एवं ईमेल- ccmsecrbsp@gmail.com पर भी संपर्क किया जा सकता है

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.