मध्यभारत को सबसे बड़ा मेडिकल सेंटर बनने जा रहा है श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस

श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस कार्पोरेट सेक्टर की ओर बढ़ाया है कदम : डाक्टर देवेंद्र नायक
प्रदेश के साथ अन्य प्रदेशों से आने वाले मरीजों को न्यूनतम शुल्क पर बेहतर सुविधा देने की ओर अग्रसर : डाक्टर अग्निहोत्री
अब क्रिटिकल केयर स्पेशियलिटी, हार्ड ट्रांसप्लांट की सुविधाएं श्री बालाजी में उपलब्ध
क्रिटिकल मरीजों को प्रदेश से बाहर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी
रायपुर। श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस मध्यभारत को सबसे बड़ा अत्याधुनिक सुविधिओं से लैस मेडिकल सेंटर बनने जा रहा है । जिसमें चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में सभी विभागों के डाक्टरों की टीम को शामिल किया गया है। 240 बैड का क्रिटिकल केयर यूनिट बनने जा रहा है। जिसमें हर समय 15 विशेषज्ञ डाक्टरों की टीम कार्यरत रहेगी। जहां क्रिटिकल मरीजों को न्यूनतम शुल्क पर बेहतर सुविधाएं दी जाएगी। श्रीबालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस के चेयरमैन डाक्टर देवेंद्र नायक ने श्री बालाजी हास्पिटल में सुविधाओं के विस्तार पर आयोजित पत्रकार वार्ता में पत्रकारों को बताया कि श्रीबालाजी हास्पिटल पिछले 13 साल के उत्कृट सेवाओं सफरतय करने के साथ अब क्रिटिकल केयर स्पेशियलिटी और इंटेंसिविस्ट की ओर आगे बढ़ रहा है। श्री बालाजी हास्पिटल की 13 वर्षो की सफलता की विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर डाक्टर चेयरमैन देवेंद्र नायक, डायरेक्टर नितिन पटेल, डा. प्रफुल्ल अग्निहोत्री, डा. विवेक वाधवा, डा. काकू सिंह भाटिया, डा. बलविंदर सिंह चुघ, डाक्टर गुप्ता, डा. दीपक जायसवाल, डा. विरेंद्र पटेल, पायनियर के संपादक एएन द्विवेदी हिमांशु साहू मौजूद थे।
डा. देवेंद्र नायक ने श्रीबालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस की टीम में शामिल होने वाले क्रिटिकल केयर के वरिष्ठ डाक्टर प्रफुल्ल अग्निहोत्री और कार्डियो सर्जन डाक्टर विवेक वाधवा के चित्किसीय सेवाओं की जानकारी दी। डा. नायक ने बताया कि डा. अग्निहोत्री पिछले 30 वर्षों से क्रिटिकल केयर के क्षेत्र में 5 हजार से अधिक सर्जरी करने की उपलब्धियां हासिल की है। उनका हमारे इंस्टीट्यूट से जुडऩा सौभाग्य की बात है। मैं सभी डाक्टरों का हृदय से स्वागत करता हूं। जिन्होंने श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस के अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी के साथ आगे बढऩे में कंधे से कंधा मिलाकर सेवाएं देने के संकल्प के साथ जुड़े है। डाक्टर देवेंद्र नायक ने बताया कि डाक्टर विवेक वाधवा 5 हजार से अधिक सर्जरी कर चुके है। वहीं डाक्टर अग्निहोत्री चिकित्सा के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ ही नहीं पूरे देश में विख्यात है। जिनकी सेवाएं अब श्री बालाजी हास्पिटल को मिलने जा रही है। यह खुशी की बात है कि हम पिछले 13 सालों से मरीजों की सेवा कर रहे है, अब अत्याधुनिक चिकित्सा सेवा के क्षेत्र में कदम रखने जा रहे है। जहां क्रिटिकल केयर, कोर्डियोलॉजी के साथ अब श्री बालाजी हास्पिटल को हार्ड ट्रांसप्लांट की सुविधा की मंजूरी जल्द से जल्द सरकार से मिलने वाली है।

श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस कार्पोरेट सेक्टर में कदम रखने जा रहा है जहां मरीजों को बेहतर से बेहतर सेवाएं देने के लिए संकल्पबद्ध है। अभी श्री बालाजी हास्पिटल 180 डाक्टरों की टीम सेवाएं दे रहे हे। अब अत्याधुनिक चिकित्सा के क्षेत्र में कदम रख चुके है, जहां क्रिटिकल केयर,कार्डियोलॉजी, हार्ड ट्रांसप्लांट भी उपलब्ध होने जा रही है। पहले भी श्री बालाजी हास्पिटल में लीवर ट्रांसप्लाट सफलता पूर्वक हो चुका है। अब कार्पोरेट सेक्टर में कदम रखने के साथ हास्पिटल में वो तमाम सुविधाएं उपलब्ध होगी जिनके लिए मरीजों को बाहर जाना पड़ता था। छत्तीसगढ़ नया राज्य होने के साथ विकासशील प्रदेश है, जहां सरकार की नीतियों से नित नए विकास हो रहे है। इसी क्रम में श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस कालेज होने से साथ-साथ हास्पिटल में भी अत्याधुनिक सुविधाओं का विस्तार करने जा रही है। जहां देश भर के विशेषज्ञ डाक्टरों की टीम की सेवाएं मिलेगी। साथ हा सरकारी की तमाम योजनाओं खूबचंद बघेल चिकित्सा सुविधा, आयुष्मान, ईएसआईसी, मुख्यमंत्री विशेष सहायता का लाभ मरीजों को दिया जा रहा है। एक हजार विस्तर वाले अस्पताल में आसपास के मरीजों का बड़ी संख्या में आना इस बात को प्रमाणित करता है कि हमारी सेवाएं अन्य राज्यों की चिकित्सा सेवाओं से बेहतर है। जहां मरीजों ने इलाज के लिए बेहतर विकल्प के रूप श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस का चयन कर रहे है। जहां बेहतर इलाज से स्वस्थ और संतुष्ट होकर अपने घर लौट रहे है। डाक्टर देवेंद्र नायक ने केंद्र और राज्य सरकार की चिकित्सा नीति पर प्रकाश डालते हुए कहा कि केंद्र सरकार की योजना है कि 2030 तक हर नागरिक को नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा मिले इस नीति पर फोकस कर रहे है वहीं राज्य सरकार ने मरीजों के लिए सभी तरह की सहायता उपलब्ध करा रही है। जो श्री बालाजी हास्पिटल में लागू है।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.