नगरपालिका परिषद द्वारा परम्परागत तरीके से मनाया गया हरेली पर्व

किरन्दुल-किरन्दुल नगरपालिका परिषद द्वारा गुरुवार को छत्तीसगढ़ का पहला त्यौहार हरेली पर्व पूरे परम्परागत तरीके से हर्षोल्लास के साथ गौठान में मनाया गया। गौरतलब है हरेली पर्व छत्तीसगढ़ की संस्कृति और आस्था से परिचित कराता है,हरेली का मतलब हरियाली होता है,जो हर वर्ष सावन महीने की अमावस्या में मनाया जाती है। हरेली मुख्यतः खेती-किसानी से जुड़ा पर्व है। इस त्यौहार के पहले तक किसान अपनी फसलों की बोआई या रोपाई कर लेते हैं,और इस दिन कृषि संबंधी सभी यंत्रों नागर,गैंती,कुदाली,फावड़ा समेत कृषि के काम आने वाले सभी तरह के औजारों की साफ-सफाई कर उन्हें एक स्थान पर रखकर उसकी पूजा-अर्चना करते हैं।बता दें इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष मृणाल राय,मुख्य नगरपालिका अधिकारी पवन कुमार मेरिया ने गैंती,फावड़ा की पूजन की एवम परस्पर एक दूसरे को हरेली की शुभकामनाएं दी एवं इस खास मौके पर फगड़ी एवं खेड़ी का खेल भी खेला गया।

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.