36 गढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग सलाहकार मंडल के पूर्व सदस्य डॉ. शांति कुमार कैवर्त्य ने 36 मुद्दों को 36 गढ़ शासन के मुखिया भूपेश बघेल से पूरा कराने 6 दिवसीय एकल आंदोलन अभियान हेतु जांजगीर- चांपा, बिलासपुर और रायपुर कलेक्टर से मांगी अनुमति

शिवरीनारायण। छत्तीसगढ़ विधानसभा मानसून सत्र 20 जुलाई से 27 जुलाई के दौरान राज्य पिछड़ा वर्ग सलाहकार मंडल के पूर्व सदस्य डॉ. शांति कुमार कैवर्त्य ने विभिन्न 36 मुद्दों को पूरा कराने शासन-प्रशासन का ध्यानाकर्षण के लिए धार्मिकधानी शिवरीनारायण, न्यायधानी बिलासपुर और राजधानी रायपुर और श्री राम की माता कौशल्या की जन्मभूमि-कोसला में छह दिवसीय एकल धरना-प्रदर्शन, जल-सत्याग्रह, विधानसभा-भवन पदयात्रा आदि के लिए आवेदन पत्र सौंपकर जांजगीर चांपा, बिलासपुर और रायपुर कलेक्टर से अनुमति मांगी है। इसकी प्रति मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक सहित इन जिलों के जिला पुलिस अधीक्षक को भी भेजी गई है। डॉ. कैवर्त्य की मांग के इन 36 मुद्दों में मुख्य रूप से श्री रामचंद्र जी की माता कौशल्या की जन्मभूमि- कोसला और आदिवासी भीलनी माता शबरी की जन्मभूमि- शिवरीनारायण के धार्मिक पर्यटन के विकास हेतु केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी ” प्रसाद- योजना ” में शामिल कराने हेतु छत्तीसगढ़ शासन का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजने

 

धार्मिक मास्टर प्लान बना कर कोसला का योजनाबद्ध विकास कराने, माता कौशल्या के नाम से राजधानी का नाम का ” कोसलापुरी करने ” और प्रदेश का पुरातन पावन नाम ” दक्षिण कौशल ” रखने का प्रस्ताव केंद्र को भेजने, फरवरी 2020 में शिवरीनारायण के नटराज चौक स्थित महादेव की नटराज प्रतिमा को ढहाने वालों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही कर रामघाट के पास विराजित श्री राम जी की प्रतिमा उपेक्षित कर लोगों की आस्था को चोट पहुंचा रहे नगर पंचायत परिषद शिवरीनारायण को भंग करने, भोगहापारा (शिवरीनारायण)की बिक्री की गई कोटवारी सेवा-भूमि पंजीयन रद्द करने, मछुआ समाज को एससी/ एसटी आरक्षण की भांति मछुआ समाज जातीय वर्ग को आरक्षण प्रदान कर प्रदेश के जलाशयों और रेत खदान को मछुआ समाज जातीय के लिए आरक्षित करने, वीरांगना माता बिलासा देवी की जन्मभूमि बिलासपुर में माता बिलासा का भव्य स्मारक बनाने

 

जांजगीर-चांपा जिले के स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में भाग लेने वाले अमर सेनानी स्व. जोतराम केवट गांव सेमरा, स्व.टीका राम केवट अकलतरा, स्व.कुमुत राम केवट कोसा शाम को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का प्रदान करने,शिवरीनारायण में इसी शिक्षा सत्र से शासकीय महाविद्यालय व स्वामी आत्माराम अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोलने, शासकीय महाविद्यालयों से नई नियुक्ति से प्रभावित अतिथि व्याख्याताओं की पुनर्नियुक्ति कर नियमितीकरण नियम बनाकर इनका नियमितीकरण करने, किसानों के दो वर्ष का बकाया बोनस राशि का भुगतान करने, प्रदेश में शराब की बिक्री पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाने, विधवाओं को 1000 तथा वरिष्ठ नागरिकों को आयु अनुसार  1000 से 1500 तक प्रतिमाह पेंशन राशि भुगतान करने, बेरोजगारों को प्रति माह 2500 बेरोजगारी भत्ता प्रदान करने, अनियमित, संविदा, दैनिक वेतन भोगी कर्मियों को रिक्त पदों में नियमितीकरण करने, प्रत्येक परिवार को 35 किलो चावल प्रतिमाह 1 की दर से प्रदान करने आदि शामिल की गई है।

 

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.