सदन में बोले बीजेपी विधायक – मंत्री के जवाब से बेहद दुखी हूं…

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा सत्र के दौरान 14 हज़ार 580 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया का मामला सदन में गूंजा. बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने सदन में मामले को उठाया. चंद्राकर ने कहा कि इस विषय पर चौथी बार सवाल पूछ रहा हूं. बार-बार सवाल पूछने के बाद अब तक कुल 10 हज़ार 441 पदों की ही भर्ती हो पाई है. पिछले पांच महीने में सिर्फ़ आठ लोगों का सत्यापन हुआ है. चंद्राकर ने पूछा कि 30 जून 2022 की स्थिति में किन-किन संवर्गों की कितनी-कितनी पदों पर प्रक्रिया पूरी हो गई है? सत्यापन काम पूरा हुआ या नहीं? एक पद के सत्यापन के लिए कितनी अवधि लगती है. देरी की वजह क्या है?

स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने जवाब में कहा कि व्याख्याता का सत्यापन राज्य स्तर पर, शिक्षक का सत्यापन संभाग स्तर पर और सहायक शिक्षकों का सत्यापन ज़िला स्तर पर किया जाता है. मेरिट क्रम में सत्यापन किया जाता है. अजय चंद्राकर ने कहा कि मैं मंत्री के जवाब से बेहद दुखी हूं. रोना आता है. छत्तीसगढ़ को मज़ाक़ बनाकर रख दिया है.

छत्तीसगढ़ के बेरोज़गार युवाओं से जुड़ा मामला है. इस सरकार को छत्तीसगढ़ के भविष्य के बारे में बात करने का अधिकार नहीं है. स्पीकर डॉक्टर चरणदास महंत ने मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम से कहा कि अपने विभाग से कहिए कि भर्ती प्रक्रिया के लिए एक निश्चित समय सीमा तय कर लें.

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.