रायपुर से अमरनाथ गए यात्रियों का सुरक्षित वापस लौटा जत्था, डॉ निर्मल कुमार अग्रवाल सहित 29 यात्री गए थे बाबा अमरनाथ बर्फानी के दर्शन करने

रायपुर के डॉक्टर निर्मल कुमार अग्रवाल ने कहा- उनके जत्थे के दर्शन के कुछ समय पश्चात ही हुई बादल फटने की घटना

अमरनाथ यात्रियों की वापसी पर दिल्ली एयरपोर्ट सहित रायपुर में भी किया गया स्वागत

अमरनाथ यात्रियों ने अमरनाथ मैं आई प्राकृतिक विपदा बादल फटने की घटना की सुनाई आपबीती

सक्ति- छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के करीब 29 शिव भक्तों का जत्था बाबा अमरनाथ की यात्रा पर रवाना हुआ था तथा रायपुर के इन शिव भक्तों ने बाबा अमरनाथ बर्फानी के जहां दर्शन किए तो वही दर्शन पश्चात ही कुछ समय बाद बाबा अमरनाथ में प्राकृतिक विपदा के तहत बादल फटने की घटना हुई जिसमें 8 जुलाई की शाम करीब 5:30 बजे अमरनाथ बाबा बर्फानी के नजदीकी बादल फटने की घटना से अचानक आए तेज पानी से जहां तीन सामुदायिक रसोई एवं 25 तंबू बह गए तो वही काफी संख्या में लोग इसके शिकार हुए

 

एवं बहुत से लोग लापता भी हो गए तथा रायपुर से गए अमरनाथ बर्फानी की यात्रा दल के सदस्य छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारी एवं छत्तीसगढ़ प्रांतीय युवा अग्रवाल मंच के पदाधिकारी, समाजसेवी डॉ निर्मल कुमार अग्रवाल, राजकुमार राठी, अजय देवागन, नवरत्न माहेश्वरी, ललित बेहद, विकास झालानी, धर्मेश झंवर, अविनाश शिर्के, निर्भय जैन एवं डॉ दीपक पांडेय सहित 29 यात्रियों का जत्था रवाना हुआ था, अमरनाथ बर्फानी में बादल फटने की घटना की जानकारी मीडिया के माध्यम से इन सभी के परिवार जनों को मिलने पर सभी काफी चिंतित रहे, किंतु रायपुर से गए सभी यात्री वहां से दर्शन कर सुरक्षित निकल चुके थे,एवं इनके दर्शन करने के बाद ही यह बादल फटने की घटना हुई है, तथा सभी ने फोन के माध्यम से ही अपने परिवार जनों को ढांढस बंधाते हुए पूरी घटना की भी जानकारी दी तथा यह जत्था जब अमरनाथ की यात्रा कर दिल्ली लौटा तो वहां लोगों द्वारा इस जत्थे का स्वागत किया गया तो वही रायपुर पहुंचने पर भी लोगों ने शिव भक्त अमरनाथ बाबा के भक्तों का स्वागत किया

वही इस संबंध में समाजसेवी डॉ निर्मल कुमार अग्रवाल रायपुर ने बताया कि बाबा अमरनाथ बर्फानी के दर्शन उनके पूरे दल ने किए तथा उनके द्वारा दर्शन करने के कुछ ही समय के पश्चात मंदिर के ठीक सामने ही यह बादल फटने की घटना हुई है, तथा उन्हें कुछ देर बाद ही इस घटना की जानकारी मिल गई थी, जिस पर उन्होंने भी वहां घायल एवं अन्य लोगों को राहत पहुंचाने की दिशा में अपना प्रयास भी किया, तथा उनके माध्यम से भी सभी लोगों को जानकारी दी है, डॉ निर्मल कुमार अग्रवाल ने कहा कि बाबा अमरनाथ की यात्रा में प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में लोग पहुंचते हैं ,तथा प्रशासन द्वारा भी यात्रा के दौरान पुख्ता सुरक्षा इंतजाम भी किए जाते हैं, किंतु प्राकृतिक विपदा से कोई कुछ नहीं कर सकता एवं पहली बार बाबा अमरनाथ में आई इस प्राकृतिक विपदा के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है,डॉ निर्मल कुमार अग्रवाल ने इस बादल फटने की घटना में शिकार हुए लोगों के प्रति अपने पूरे जत्थे की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए बाबा अमरनाथ बर्फानी से प्रार्थना की है कि सभी मृतकों को एवं इनकी मृतआत्मा को शांति प्रदान करते हुए इन्हें स्वर्ग लोक में अपने श्री चरणों में स्थान दे तथा जो लोग इस घटना में घायल हुए हैं उन्हें शीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्रदान करें

शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.